(Mechanical Engineering me career) मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाएं? 

(Mechanical Engineering me career) मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाएं? 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग के सबसे पुराने कोर्सेज में से एक है। ज्यादातर स्टूडेंट्स मैकेनिकल इंजीनियरिंग को सेलेक्ट करते है क्योंकि मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर (Mechanical Engineering me career) ग्रोथ अच्छा है। Mechanical Engineering मैकेनिकल सिस्टम बनाने और बनाए रखने के लिए maths and physics की concepts को लागू करता है। बी.टेक या बैचलर्स ऑफ टेक्नोलाॅजी प्रोग्राम मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक प्रोग्राम है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक वाले उम्मीदवारों के लिए स्नातकोत्तर प्रोग्राम या एम.टेक या मास्टर ऑफ टेक्नोलाॅजी अगला कदम है। यही नहीं, आप इस लिंक पर कनाडा में MTECH की पढ़ाई क्लिक करके M.Tech से जुड़ी सभी जानकारी यहां से ले सकते हैं। 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक चार साल का प्रोग्राम है जिसमें आठ सेमेस्टर होते हैं। वहीं दूसरी ओर, मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एम.टेक दो साल का कार्यक्रम है, जिसमें चार सेमेस्टर शामिल हैं।


इसे पढ़ें: कनाडा की सबसे सस्ती यूनिवर्सिटी (Canada cheap University) से लें उच्चतम डिग्री 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बारे में विस्तार से पूरी जानकारी 

1. मैकेनिकल इंजीनियरिंग किसे कहते हैं ? 

Mechanical Engineering, इंजीनियरिंग की सबसे पुरानी और बड़ी शाखाओं में से एक है। मैकेनिकल इंजीनयरिंग में स्टूडेंट को मशीनों की बनावट निर्माण आदि के बारे में स्टडी कराया जाता है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग दुनिया की सबसे पुरानी इंजीनियरिंग शाखा है। क्योंकि मैकेनिकल उपकरणों का अविष्कार सबसे पहले होना शुरु हो गया था। आपको बता दें, इसके लिए किसी तरह की बिजली या किसी अन्य वस्तु की जरुरत नहीं पड़ती थी। इसलिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग की शाखा बहुत बड़ी और बहुत ही पुरानी है।

2. मैकेनिकल इंजीनियर का क्या काम है ? 

मैकेनिकल इंजीनियर हर उपकरण और मशीन की दक्षता को डिजाइन करने, विकसित करने और बढ़ाने का काम करता है। ये आमतौर पर designing, production, analysis और testing, installation आदि में स्पेशलाइज्ड होते हैं। 

  • मैकेनिकल इंजीनियर मैकेनिकल डिवाइस की समस्याओं का analysis करते हैं और उन समस्याओं को हल करते हैं।
  • डिवाइस का एक प्रोटोटाइप विकसित करते हैं।
  • प्रोटोटाइप का टेस्ट करते हैं।।
  • मैकेनिकल डिवाइस को डिजाइन या नया स्वरूप देते हैं।
  • डिवाइस के लिए ब्लूप्रिंट तैयार करते हैं।
  • टेस्ट के परिणामों का विश्लेषण और आवश्यकतानुसार डिजाइन में बदलाव करते हैं।
  • निर्माण प्रक्रिया के लिए काम करते हैं।
3. मैकेनिकल इंजीनियरिंग की योग्यता क्या है ? 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में सफलतापूर्वक अपना करियर बनाने के लिए professional qualification होना जरुरी है। इसलिए  मैकेनिकल इंजीनियरिंग या किसी अन्य रिलेटेड फील्ड में डिग्री होना बेहद जरूरी है, जो कि नीचे दिया गया है। 

  • यूजी कोर्स के लिए: किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से साइंस स्ट्रीम के साथ 10+2 की औपचारिक शिक्षा 55% अंकों के साथ पूरी होनी चाहिए।
  • पीजी कोर्स के लिए: न्यूनतम 3.0 GPA के साथ मैकेनिकल इंजीनियरिंग में BTech या BE जैसी डिग्री 50% अंकों के साथ पूरी होना जरूरी है।
  • उम्मीदवारों को इस फील्ड में पोस्टग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन पाने के लिए GRE स्कोर प्राप्त करने की भी आवश्यकता है।
  • अगर आप विदेश में मैकेनिकल इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो इंग्लिश लैंग्वेज एग्जाम टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, आदि में अच्छा स्कोर होना जरुरी है। 
  • LOR और SOP होना भी बहुत जरुरी है।
4. विदेश की टाॅप 10 मैकेनिकल इंजीनियरिंग काॅलेज और फीस 

अगर आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो यहां हम आपको विदेश की टाॅप 10 मैकेनिकल इंजीनियरिंग काॅलेज और फीस के बारे में बताएंगे। जिससे आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने में कुछ मदद मिल जाएं। 

  • यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो, कनाडा – 35,45,445 (CAD 58,680) 
  • क्वींस यूनिवर्सिटी, कनाडा – 25,49,542 (CAD 42,197) 
  • टेक्निकल यूनिवर्सिटी ऑफ बर्लिन, जर्मनी – 19,07,709 (Euro 21,900) 
  • RWTH आकिन यूनिवर्सिटी, जर्मनी – 10,00,000 (Euro 11,494) 
  • मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलाॅजी, यूएसए 54,87,000 (USD 73,160) 
  • स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूएसए – 21,11,453 (USD 28,152) 
  • मेलबर्न यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया – 24,09,928 (AUD 42,782) 
  • न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया – 3,36,290 (AUD 5,970) 
  • बीजिंग इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलाॅजी, चीन – 3,59,281 (RMB 30,600) 
  • शंघाई जिओ टोंग यूनिवर्सिटी, चीन – 3,33123 (RMB 28,375) 
5. विदेश में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए अप्लाई कैसे करें ?
  • यूनिवर्सिटी की official website पर रजिस्ट्रेशन करें। यहां से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकारी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान जरुर करें।
  • अंत में आवेदन पत्र भी जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इनवाइट करती हैं।
6. मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर ऑप्शन

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद आपके पास नीचे दिए गए करियर ऑप्शन मौजूद है।

  • ऑटोमोटिव इंजीनियर
  • एयरोस्पेस इंजीनियर
  • मैन्युफैक्चरिंग सिस्टम्स इंजीनियर
  • इंजीनियरिंग कंसल्टेंट
  • न्यूक्लियर इंजीनियर


जरुर पढ़ें: कनाडा एक्सप्रेस एंट्री आपके लिए क्यों है महत्वपूर्ण

Shruti Suman

Shruti Suman

Articles: 720

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *